7.9.10

पति-पत्नी

बंधुओ,अभिवादन.एक रूठे हुऐ पति-पत्नी के मन की बातें हमने सुनी, आपकी क्या राय है पत्नी सही है या पति? अपनी अमूल्य टिप्पणियों द्वारा अवगत करायें.आनंद लिजिये.
पति उवाच
मैं घर आया
वो टी.वी. देख रही थी
उसने मुझसे
चाय तो चाय
पानी तक का नहीं पूछा
मैं गुस्सा गया
टी.वी. बंद कर दिया
अगर वो मुस्कुरा कर
चाय-पानी पूछ लेती
तो...
मैं कहता कोई नहीं
तुम टी.वी. देखो
मैं दस मिनट ठहर जाता हूं
मेरी तो कदर ही नहीं
क्या पत्नी मिली है
पत्नी उवाच
वो घर आये
मैं टी.वी. देख रही थी
उन्होने मुझसे
बात तक नहीं की
टी.वी.बंद कर दिया
मैं गुस्सा गयी
अगर वो मुस्कुरा कर
कहते चाय पिला रही हो क्या?
तो...
मैं सोचती कोई नहीं
कल रीपीट देख लूंगी
चाय बनाती पिलाती
नाल गर्म पकौड़े खिलाती
मेरी तो कदर ही नहीं
क्या पति मिला है

6 टिप्‍पणियां:

  1. अच्छा लेख है ....
    यहाँ भी आइये ........
    http://thodamuskurakardekho.blogspot.com/2010/09/blog-post_06.html

    उत्तर देंहटाएं
  2. संवादहीनता सभी समस्‍याओं की जड है !!

    उत्तर देंहटाएं
  3. आपको एवं आपके परिवार को गणेश चतुर्थी की शुभकामनायें !
    बहुत सुन्दर !

    उत्तर देंहटाएं
  4. आपकी टिपण्णी और उत्साह वर्धन के लिए बहुत बहुत शुक्रिया !
    आपके नए पोस्ट का इंतज़ार है!

    उत्तर देंहटाएं
  5. बहुत हे अच्छा न सही बात लिखी है आपने....

    उत्तर देंहटाएं

आपकी टिप्पणी हमारी प्रेरणा

 
चिट्ठाजगत IndiBlogger - The Indian Blogger Community
www.blogvani.com